Thursday, 14 March 2013

भूख क्या होती है ___ ?

दिन के अंत में आज जब मैंने तुम्हें
उस गली की बेकरी के सामने देखा 
मुझे तब महसूस हुआ कि भूख क्या होती है !

जब तुमने उस ब्रैड के टुकड़े को देख कर
अपना हाथ बढ़ाया तब पता चला 
हमारा समाज कितनी भुखमरी में जी रहा है |

आज तुम उस समाज के प्रतीक हो
जहां हम कभी जाना ही नहीं चाहते है |
लेकिन हमारे देश का एक हिस्सा
इस हिस्से में जिये जा रहा है __ | - लिली कर्मकार

No comments:

Post a Comment