Wednesday, 27 February 2013


मत पुछो मुझसे कि कौन हूँ मैं ?  
मेरा व्यक्तित्व और मेरा अस्तित्व अस्पष्ट है ...  
लेकिन ....  
मेरा वजूद किसी की छाया में छिपा हुया नहीं । - लिली कर्मकार 

No comments:

Post a Comment