Thursday, 4 October 2012

काँग्रेस सरकार का और एक तमाशा .... कांग्रेसियों का और एक दोगलापन .... ! 

उन्नाव में 2 अक्तूबर को मेरे मित्र Vinay Dwivedi लालबहादुर शास्त्री जी को माल्यार्पण करने गए थे अपने साथियों के साथ और स्वदेशी संकल्प लेने के लिए गए थे .... तभी वहाँ एक कोंग्रेसी पूर्व मंत्री और एक कोंग्रेसी संसद (अनु टंडन) पंहुचे अपने कोंग्रेसी समर्थकों के साथ ... वहाँ मौजूद कांग्रेसियों ने भारत स्वाभिमान के सभी कार्यकर्ताओं के साथ दुर्व्यवहार किया ... धक्का-मुक्की भी किए ... और FID के समर्थक में नारा लगाने लगे .... ! देखिये करतूत अब इन कांग्रेसियों की .... 2 अक्तूबर जो की गांधी जी का जन्म दिवस है … गांधी जी जो कॉंग्रेस पार्टी के जनक थे जो विदेश बस्तुओ का विरोध करते थे .... आज काँग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता ही गांधी जी के ही जन्म दिवस पर fdi का नारा लगा रहे है ... ! कितना भद्दा मज़ाक है और कितने दुख की बात है जिंदगी भर गांधीजी विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार करते रहे और स्वदेसी अपनाओ का नारा देते रहे चरखा काटते रहे, आज उन्ही के जन्मदिवस पर उन्ही के नाम की दुकान चलानेवाले, खुद को उनकी विरासत का हक़दार बतानेवाले ही आजकल मोटी कमाई और मोटे कमीशन के लालच में विदेशी कंपनियों की जय बोल रहे हैं .... गांधीजी की आत्मा को इससे कितना सुख पहुंचा होगा ये तो वही बता सकते हैं ...... वाह रे कांग्रेस ... .... !

No comments:

Post a Comment