Saturday, 1 September 2012

जिस दिन जिस समाज में नयी सोच का उभरना खत्म हो जाता है , उस दिन वह समाज मरने लगता है ...... !!! जय हो .....!!!

No comments:

Post a Comment