Saturday, 1 September 2012

गुनाहगार कौन ............???

गौ हत्या और गौ हत्यारों का विषय समाज में चिंता का सबब है .. जिस पर समाज का जागरूक तबका बहुत दुखी और चिंतित है ....... पर ये प्रश्न अनुत्तरित क्यों है की आखिर गौ बंश उनके हत्यारों के पास कैसे और क्यों पहुँचता है ……??? और कौन उन गायों को बृद्ध होने पर या अपनी आर्थिक आबश्यक्ताओ को पूरा करने के लिये बेचता है ……??? ........ कौन है बो लोग जो बृद्ध, कमजोर और कम दूध देने बाली
 गायों से छुटकारा पाने के लिये उनको हत्यारों को सौप देते है ........ कौन है बो लोग जो गौकसो के हाँथ अपनी गाये बेचते समय जादा पैसे के चक्कर में मोलभाव करते है ... गायों को उनकी हत्या करने बालो के हांथो में पहुंचाने बाले दोषी क्यों नहीं ???.........गायों को पालने बाले और उनको बेचने बालो का दोष कितना कम माना जाना चाहिए …… !!! प्रश्न ये भी की जो समाज गाय को माता मानता है जिसके धर्म में गाय को पूज्य माना गया …… जहाँ गाय के शरीर में देवताओं का बास माना गया गया उस समाज की बृद्ध और कमजोर गाये आखिर जाती कहाँ है ... कैसे बो गौकसो के हाँथ में पहुँच जाती है ....... !

No comments:

Post a Comment