Tuesday, 21 May 2013

हम विनोद राय जैसे कर्तव्यनिष्ठ व्यकित्व का तहे दिल से सम्मान करते है | श्री राय ने भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठा कर अपनी ‘निर्भयता’ और ‘बुलंद हौसले’ का परिचय दिया है | 

विनोद राय के जाने के बाद यूपीए के लोग ऐसे जश्न मना रहे हैं मानो उन्हें आज़ादी मिल गयी हो | अगर कोई मजबूरी होती कि विनोद राय को स्थायी रूप से इस पद पर रहना है और इससे मुक्ति तभी हो सकती है जब देश का ओर एक बंटवारा हो जाय तो इससे भी नहीं चूकते ये कांग्रेसी | 

कल विनोद जी का जन्मदिवस है हम सब की तरफ से उनको जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ |
बार-बार नमन विनोद जी |

जय हिन्द , जय भारत |

No comments:

Post a Comment