Thursday, 18 October 2012

दो शब्द प्यार करने वालों के नाम - 

न दिल होता न दर्द होता ... 
न किसी के आने का इंतज़ार होता ... 
तू तो न आया लेकिन ... 
तेरी यादें हँसाने के लिए चली आई .... ! - लिलि कर्मकार

No comments:

Post a Comment