Friday, 31 August 2012

प्रेमपूर्ण विचार ...... 

* यदि कोई आपसे क्रोध से बात करता है तो क्रोध की आग पर प्रेम का शीतल जल डाल दीजिये ! 

* जब जीवन में हर परिस्थिति का सामना करना ही है तो प्रेम से सामना क्यों न करें ? 

* सदा नम्रता की पोशाक पहने रहिए , इससे दूसरों का प्रेम व सहयोग स्वत: ही मिलेगा !

* आदर प्राप्त करने का एकमात्र उपाय यह है की पहले आप दूसरों का आदर करें !
* मीठा बोलने में एक कौड़ी भी खर्च नहीं होती , इसीलिए सदा प्रेमयुक्त , मधुर व सत्य वचन बोलें ! 

No comments:

Post a Comment