Wednesday, 7 May 2014

गाँधी परिवार की जागीर

आजादी के बाद गाँधी परिवार की जागीर माने जानी वाली सीटों पर आज तक कभी ऐसा नहीं हुआ की गाँधी परिवार के सदस्य को वोटिंग के दिन अमेठी में रुकना पड़ा हो |
हकीकत बात ये है कि चुनाव भर पूरे देश को अपनी जेब में ड़ाल कर घूमने वाले राहुल गाँधी को अपनी सीट बचाना मुश्किल पड़ रहा है और काँग्रेस कहती है कि कोई लहर नहीं है ||

लगता है पूरे देश के साथ साथ अमेठी के भी अच्छे दिन आने वाले है ||

No comments:

Post a Comment