Wednesday, 16 April 2014

राजनैतिक अस्थिरता / अराजकता

पिछले कुछ समय से हमारे देश में एक तरह की राजनैतिक अस्थिरता / अराजकता का माहौल रहा है बहुत सारे नेता बरसाती मेंढक की तरह जनता की सामने नए नए चुनाव चिन्ह लेकर आये जिन्होंने जनता से लुभावने वादे करके जैसे तैसे सत्ता तो हथिया ली लेकिन काठ की हांडी बार बार नहीं चढती इसी तरह जनता से झूठ बोलने के कारण अब जनता उनके मुंगेरीलाल अरमानो पर ' झाड़ू ' भी चला रही है आप सभी समझदार है राजनैतिक समझ भी मुझसे ज्यादा ही रखते है मैं किसी भी ऐसे नेता के खिलाफ़ हूँ जो मात्र आरोपों की राजनीति करना जानता हो एवं गलत तरीके से किसी अन्य पार्टी को फायदा पहुँचाना चाहता हो जिस पार्टी के ' पंजे ' से हमें देश बचाना है

मित्रों आप सभी स्वयं समझदार है बस

इतना याद रखिये कि ' झाड़ू ' बिना ' हाँथ ' की मदत के नहीं चलती और कितनी भी अच्छी हो छः महीने से ज्यादा नहीं चलती ......!!

अतएव अपने वोट के राष्ट्रीय महत्त्व को समझते हुए राष्ट्रहित में उम्मीदों के फूल खिलाएं एवं भारत को विश्व शक्ति बनाने में अपना योगदान दें .....!!


जय हिन्द , जय भारत .....!!

No comments:

Post a Comment