Friday, 7 December 2012

सरकार में अगर इतनी हिम्मत है तो एफडीआई का अर्थ खुलकर सबके सामने रखे .... ! अगर हमारा देश नाजुक दौर से गुज़र रहा है तो उस नाजुकता को देश के लोग ही समझ पाएंगे विदेश के लोग नहीं ... ! 

इसलिए जनता को बहलाना बंद करो ... जितना लूटना था लूट लिए अब कुछ आम जनता के लिए भी छोड़ दो ... कुछ तो शर्म करो बेशर्मों .... ! 

जय माँ भारती ... !

No comments:

Post a Comment