Tuesday, 11 December 2012

अगर लूट , चोरी , बेईमानी तथाकथित नेताओ में भरी पड़ी है तो आम जनता किस हद तक लड़ पाएंगी .... ! जहां तक हमारे देश की बात है - अब यह 'गणतन्त्र' नहीं महज एक 'लूटतंत्र' रह गया है ... ! सरकार जनता के लिए नहीं है बस जनता एक वोट बैंक मात्र है ... ! मेरी नज़र में गुजरात ही ऐसा एक अपवाद राज्य है जहाँ आज़ादी के बाद इतनी उन्नति हुई .... ! जो केंद्र सरकार को अब रास नहीं आ रही ... ! केंद्र सरकार से बोलना चाहुंगी गुजरात को छोड़िए जहां जहां काँग्रेस की सत्ता है वहाँ थोड़ा मुड़ के देखिये आपको आपकी असलियत और औकात खुद पता चल जाएगा ... !

No comments:

Post a Comment